महामारी के बीच महंगाई की शिकार जनता: रिफाइन्ड और सरसो तेल के बढ़े के दाम, आलू की कीमत भी दिखा रही आंख

महामारी के बीच महंगाई की शिकार जनता: रिफाइन्ड और सरसो तेल के बढ़े के दाम, आलू की कीमत भी दिखा रही आंख
Musturd Oil News

-भारतीय बस्ती संवाददाता-
बस्ती. कोरोना की दूसरी लहर और लॉकडाउन में खाद्यान्न सामग्री एवं सब्जियों की बढ़ती कीमतों से आम जनता कराह रही है. जीविका के सिमटते संसाधनों के बीच महगाई की चक्की में पिसना उसकी मजबूरी बन गई है. कोरोना की पहली लहर से आम जनता उबर भी नहीं पाई थी कि दूसरी लहर उस पर गाज बनकर गिर गई. महीनों से घरों में कैद लोगों के जहां एक ओर रोजगार छिन चुके है वहीं खाद्य सामग्रियो के बढ़ते दामों के कारण लोगों का जीना मुहाल हो गया है. लोगों का घरेलू बजट बालू की भीत की तरह भरभरा कर गिर चुका है.

अपनी जरूरतों को कम करने के बावजूद भी लोग सरसो तेल, रिफाइन्ड आयल के बढ़ते दामों से परेशान है. जनवरी महीने में 110 रूपये प्रति किलो बिकने वाला सरसो तेल मई के महीने में 190 रूपये प्रति किलो बिक रहा है. रिफाइन्ड आयल के दाम भी सरसो तेल के साथ बढ़ रहे है. 90 रूपये प्रति लीटर का रिफाइन्ड अब बाजार में 170 रूपये प्रति लीटर बिक रहा है.

यह भी पढ़ें: BJP में शामिल होने के बाद राजकिशोर सिंह ने शेयर किया खास प्लान, जानें- क्या कहा?

खाद्य सामग्री तैयार कर बाजार मे उतारने वाली कम्पनियों ने जहां एक ओर दाम बढ़ाये तो वही बिचैलियो ने भी परम्परागत रूप से तैयार सरसो के तेल का भाव भी आसमान छूने लगा. इसी के साथ ही बाजार में गेहू की कीमत 16 रूपये प्रति किलो से 18 रूपये प्रति किलो है लेकिन उपभोक्ताओं को आटा 25 रूपये प्रति किलो मिल रहा है. ऐसे हालत मे जब रोजगार के साधन समाप्त हो चुके है लोग घरों मे कैद है ऐसे मे खाद्य सामग्रियों के साथ सब्जियों के बढ़ते दाम भी आंख दिखा रहे है. आलू 10 रूपये प्रति किलो से बढ़कर 15 से 20 रूपये प्रति किलो बिक रहा है वही प्याज की कीमत 25 रूपये प्रति किलो हो चुकी है. खाद्य सामग्रियो के बढ़ते दामो के साथ सब्जियो की कीमतों ने भी उझाल मारी है. शहर से लेकर गांव तक के बाजार में रोजमर्रा के जरूरतों से जुड़ी चीजें मनमाने दामों पर बिक रहे है. सरसो तेल के लिए कही 190 तो कही 200 तक भी दाम ग्राहको से लिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: बस्ती में मंगल ने दूर किया BJP का 'अमंगल', हरीश द्विवेदी को मिली बड़ी राहत

रोजगार और बंद कमाई रास्ते के बीच आम आदमी महंगाई की चक्की में पिस रहा है. ऐसे में लोगो के लिए अब घरेलू सामान जुटाना मुश्किल होता जा रहा है. ऐसे हालात में जिन परिवारों को रोज कमा कर परिवार चलाना पड़ रहा था. उनको कोई रास्ता नही सूझ रहा है. महंगाई की मार ने जो तेवर दिखाये है उससे उबरना आम जनता के लिए मुश्किल होता जा रहा है. घरेलू सामानों की व्यवस्था करने में उसे रोना आ रहा है. महंगाई की मार से त्रस्त लोगों का कहना है कि यदि यही हाल रहा तो घर में दो जून की रोटी तक के लाले पड़ जाएंगे. गरीबों को सरकार चावल, गेहूं तो उपलब्ध करा रही है लेकिन अन्य सामानों की खरीदारी वह कहां से करे यह सवाल किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: Basti में Akhilesh Yadav, कल GIC में होगी सभा, ये नेता रहेंगे मौजूद

On

ताजा खबरें

यूपी के इन 21 गांवों में किसानों की बदलेगी किस्मत! योगी सरकार खरीदेगी जमीन, मिलेगा करोड़ों का मुआवाजा!
Indian Railway News: जिस रेलवे स्टेशन से सफर करते थे नेताजी और महात्मा गांधी, वहां नहीं रुकती कोई ट्रेन! जानें- क्यों?
दिल्ली से जाने वाली इस जरूरी ट्रेन की बदली गई टाइमिंग, जान लें आपके लिए भी है जरूरी
Share Market News: Maharatna PSU Stock 3 महीने के लिए खरीदें, हो सकती है दमदार कमाई
Ganga Express Way: गंगा एक्सप्रेस वे पर इतिहास रचेगी योगी सरकार, पहली बार होगा देश में ये काम
UP Bijli Bill Price: यूपी में योगी सरकार दे सकती है बड़ा झटका, ये प्रस्ताव मंजूर हुआ तो महंगी हो जाएगी बिजली!
UP Barish News: यूपी में इस तारीख को हो सकती है बारिश, IMD का बड़ा दावा
UP Ka Mausam: यूपी के इन जिलों में IMD का अलर्ट, इन जिलों में अभी और रुलाएगी गर्मी, यहां हैं बारिश के आसार
एयरपोर्ट जैसा होगा यूपी का ये रेलवे स्टेशन, 9 महीने में पूरा होगा सारा काम, मिलेंगी ये सुविधाएं
समर स्पेशल ट्रेन यात्रियों के लिए बनी दुविधा कोई ट्रेन आठ घंटे तो कोई बारह घंटे लेट, स्टेशन पे ट्रेन की राह देख रहे यात्री