Basti News: समीक्षा बैठक में मंडलायुक्त के सख्त निर्देश- बाहर की दवाएं ना लिखें डॉक्टर

Basti News: समीक्षा बैठक में मंडलायुक्त के सख्त निर्देश- बाहर की दवाएं ना लिखें डॉक्टर
basti news (2)

मंडलायुक्त योगेश्वर राम मिश्र ने तैनाती स्थल पर डॉक्टरों एवं शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है.  मण्डलीय विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों में मानक के अनुरूप दवाओं की उपलब्धता रहे, बाहर की दवाई न लिखी जाए तथा सुनिश्चित करें कि मरीजों का पैथोलॉजिकल टेस्ट अस्पताल में ही कराया जाए.  उन्होंने वार्ड, ओपीडी और चिकित्सालय परिसर में साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया है.  आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत गोल्डन कार्ड बनाने की धीमी प्रगति पर उन्होंने असंतोष व्यक्त किया तथा निर्देश दिया कि अभियान चलाकर पात्र व्यक्तियों के गोल्डन कार्ड बनाए जाएं. 

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत उपचारित व्यक्तियों की संख्या कम पाए जाने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त किया.  उन्होंने कहा कि महिला डॉक्टरों की तैनाती सभी प्रमुख अस्पतालों में की जाए.  मातृ मृत्यु दर में वृद्धि रोकने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं की जाएं तथा पिछले वर्ष के जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत लाभार्थी एवं आशा का भुगतान तत्काल सुनिश्चित कराया जाए. 

यह भी पढ़ें: बस्ती का ये मंदिर करता है सबकी मन्नतें पूरी, दूर दराज से आते हैं श्रद्धालु, हफ्ते में इस दिन होती है भारी भीड़

बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग को उन्होंने निर्देशित किया है कि प्रत्येक जिले में 10-10 अतिकुपोषित बच्चों का नियमित मॉनिटरिंग करके उनके स्वास्थ्य में सुधार कराया जाए.  मैम, सैम, एवं गर्भवती महिलाओं में खून की कमी पाए जाने पर उचित उपचार किया जाए.  न्यू बार्न बेबी की ट्रैकिंग में तेजी लाएं.  उन्होंने धन की उपलब्धता के बावजूद मेडिकल कॉलेज बस्ती में एसएनसीयू की स्थापना न किए जाने पर असंतोष व्यक्त किया तथा जिलाधिकारी को निर्देशित किया है कि वे मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य से बात कर इसकी स्थापना शीघ्र कराएं. 

यह भी पढ़ें: Bhartiya Basti Sthapna Diwas पर विशेष लेख: 46वें वर्ष में भारतीय बस्ती, पाठकों का भरोसा हमारी शक्ति

 उन्होंने बस्ती में 15 प्रतिशत से अधिक वृक्ष सूख जाने पर भी असंतोष व्यक्त किया तथा उन्होंने निर्देश दिया है कि उनके स्थान पर नए वृक्ष लगाए जाएं.  उन्होंने नवग्रह एवं नक्षत्र वाटिका स्थापित किए जाने, स्मृति वन, बालवन, युवा वन एवं हरिशंकरी के पौधे लगाए जाने का निर्देश दिया है.  उन्होंने उद्यान विभाग को निर्देशित किया है कि ड्रैगन फ्रूट, फूलों की खेती, डच खीरा, शहद उत्पादन, मखाना की खेती कराने के लिए किसानों को प्रेरित करें. 

यह भी पढ़ें: Uttar Pradesh Weather: लोकसभा रिजल्ट के दिन होगी बारिश! जाने अपने जिले का हाल

विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए उन्होंने लाइन लॉस कम करने तथा 10-10 सर्वाधिक एवं सबसे कम लाइन लास वाले ट्रांसफार्मर की सूची तैयार करने का निर्देश दिया है.  उन्होंने 178 के सापेक्ष पिछले माह में एक भी उर्जीकरण न किए जाने पर असंतोष व्यक्त किया.  उन्होंने राजस्व वसूली कम पाए जाने पर भी नाराजगी व्यक्त की तथा कटिया कनेक्शन खत्म कराने का निर्देश दिया है. 

उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया है कि पंचायती राज विभाग में सामानों की खरीद के लिए दरों का मानक निर्धारित करें.  निर्धारित मानक में तब्दीली करने का अधिकार केवल जिलाधिकारी का होगा.  कोई भी सामुदायिक शौचालय तालाबंदी में ना रहे, इसको उपयोग में लाया जाए तथा नियमित साफ-सफाई कराई जाए.  नगर विकास विभाग की अमृत योजना की समीक्षा करते हुए उन्होंने जल निगम को निर्देशित किया कि 31 दिसंबर तक सभी कार्य पूर्ण कराएं.  अधो मानक प्लास्टिक जब्ती करण न किए जाने पर उन्होंने असंतोष व्यक्त किया.  नमामि गंगे की समीक्षा करते हुए उन्होंने निर्देश दिया कि परियोजनावार प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करें. 

धान खरीद की समीक्षा करते हुए उन्होंने पाया कि कुल लक्ष्य का मात्र 18.50 प्रतिशत ही खरीद अभी तक हो पाई है, यद्यपि की बोरा एवं पैसा पूरी तरह उपलब्ध है.  उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि 48 घंटे के अंदर किसानों का भुगतान सुनिश्चित कराएं.  दुग्ध विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए उन्होंने निर्देश दिया कि दुग्धपालकों का 1 सप्ताह के भीतर भुगतान कराएं तथा कलेक्शन बढ़ाएं.  व्यवसायिक शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए उन्होंने निर्देश दिया कि युवाओं को रोजगारपरक प्रशिक्षण प्रदान करें और रोजगार करने में उनकी सहायता करें. 

प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत 635 ऋण आवेदन पत्रों की स्वीकृति के सापेक्ष 414 को ऋण वितरण किए जाने पर उन्होंने असंतोष व्यक्त किया तथा अभियान चलाकर सभी ऋण वितरण कराने का निर्देश दिया.  मंडलायुक्त ने निर्देश दिया है कि बैठक में लिए गए निर्णय एवं निर्देशों का 1 सप्ताह में अनुपालन करके अवगत कराएं. 

बैठक का संचालन जेडीसी पद्मकान्त शुक्ल ने किया.  बैठक में जिलाधिकारी बस्ती प्रियंका निरंजन, सिद्धार्थनगर के संजीव रंजन, संतकबीर नगर प्रेम रंजन सिंह, सीडीओ जयेन्द्र कुमार, डा. राजेश कुमार प्रजापति, अतुल मिश्रा, उप निदेशक अर्थ एंव संख्या अमजद अली अंसारी, मुख्य अभियन्ता लो0नि0वि0 इरफान अहमद, अधीक्षण अभियन्ता विद्युत सुशील कुमार आर्य, अधीक्षण अभियन्ता लो0नि0वि0 अशोक कुमार प्रेमी, अधीक्षण अभियन्ता ग्रा0अ0वि0 रियाज अहमद सिद्दीकी, अधीक्षण अभियन्ता नलकूप लक्ष्मी नरायन, अधीक्षण अभियन्ता बाढ अवनीश साहू, अधीक्षण अभियन्ता सिंचाई लवकुुश सिंह, अधिशासी अभियन्ता लघु सिंचाई सुभाष चन्द्र, उप निदेशक पंचायतीराज बी0बी0 सिंह, उप निदेशक समाज कल्याण सुरेश चन्द्र, उप निदेशक मण्डी परिषद सरोज कुमार, उपायुक्त खाद्य सत्येन्द्र सिंह तथा विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे. 

On

Join Basti News WhatsApp

ताजा खबरें

यूपी में इस जिले के 300 गांवों में दो दिन नहीं आएगी बिजली, विभाग ने की ये अपील, खत्म हो जाएगी बड़ी दिक्कत
UP Ka Mausam: यूपी में गरज चमक के साथ हो सकती है बारिश!, जाने अपडेट
यूपी में इस रूट पर फोर लेन होगी रेलवे, जानें कब शुरू होगा काम
यूपी के बस्ती में घर में कई दिनों से बंद थे अजगर के 26 बच्चे, देखते ही पैरों तले खिसक गई ज़मीन
Income tax changes का आपको होगा फायदा या नहीं? यहां एक क्लिक में जानें सब कुछ
Mohit Yadav Case: मोहित यादव मामले में बड़ा अपडेट, सत्यम समेत पांच और गिरफ्तार
Mohit Yadav की मां और परिजनों से मिलने बस्ती आई सपा प्रमुख अखिलेश यादव की टीम, किया ये वादा
यूपी के बस्ती शहर के इन इलाकों में कल नहीं रहेगी बिजली, भर लें पानी, चार्ज कर लें फोन, लैपटॉप, मोबाइल, गाड़ी
यूपी के एक Express Way से दूसरे में जाने पर अब नहीं होगी मुश्किल, योगी सरकार ने बनाया खास प्लान
Uttar Pradesh Ka Mausam: यूपी के इन जिलों मे हो सकती है गरज चमक के साथ भारी बारिश