गांधी परिवार भ्रष्टाचार भी करेंगे, खुद को कानून के ऊपर भी मानेंगे  : भाजपा

गांधी परिवार भ्रष्टाचार भी करेंगे, खुद को कानून के ऊपर भी मानेंगे  : भाजपा
BJP

नई दिल्ली, राहुल गांधी को प्रवर्तन निदेशालय ऑफिस में विगत 2 दिनों से बुलाकर पूछताछ की जा रही है जिसके विरोध में देशभर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ बड़े नेताओं ने इसका विरोध बहुत ही पुरजोर तरीके से कर रहे हैं. इसी विरोध पर तंज कसते हुए भाजपा मुख्यालय में बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि यह कांग्रेस पार्टी और गांधी परिवार भ्रष्टाचार भी करेंगे और जब उन्हें रुकेंगे तब वह कहीं न कहीं अपने आप को कानून से ऊपर मानेंगे. डिस्टेंस ऑफ इटाइटेलमेंट द फर्स्ट फैमिली एडं कांग्रेस पार्टी बोखला जाती है और भारत की भावना को ठेस पहुंचाते हैं.

यह भी पढ़ें: Basti MLC Election 2022: विधान परिषद चुनाव में आसान नहीं है बस्ती में BJP की डगर

संबित पात्रा ने कहा कि क्या यह हकीकत नहीं है कि इन सारी विषय को लेकर नेशनल हेराल्ड के विषयों को लेकर कांग्रेस पार्टी ट्रायल कोर्ट में भी गई थी. संबित पात्रा ने कहा कि जब दिल्ली के हाई कोर्ट और ट्रायल कोर्ट से उनके पक्ष में आदेश नहीं मिला जबकि दिल्ली हाई कोर्ट ने स्पष्ट कहा कि प्रथम दृश्य में यह बहुत बड़ा केस है. संबित पात्रा ने कहा कि इस मामले के दोनों आरोपी ने प्रथम आरोपी कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी और दूसरे आरोपी राहुल गांधी के विश्वनीयता पर सवाल उठता है. संबित पात्रा नहीं कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस मामले को रफा दफा कराने के लिए

यह भी पढ़ें: केन्द्र की अपील : यात्रा से 21 दिन पहले टिकट बुक करें, सबसे सस्ते किराये वाली उड़ान चुनें

कांग्रेस पार्टी के वकीलों को पूरा का पूरा काफिला जिसमें कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी जैसे वकीलों में सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगायी थी और लंबी बहस में कहा था कि इस केस में कोई मेरिट नहीं है इसे खारिज कर दी जाए.पात्रा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट मे पूरी सुनवाई के बाद 2016 मे अपना स्पष्ट मत रखा था कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि ऐसा नहीं हो सकता है इस केस को खारिज कर दें. इस केस में मेरिट है. कांग्रेस पार्टी का क्रिमिनल प्रॉसेक्यूशन इस केस के माध्यम से चल रहा है. संबित पात्रा ने इस मामले में आरोपी नम्बर एक सोनिया गांधी और आरोपी नम्बर दो राहुल गांधी उन पर केस चलेगा और सुनवाई का सामना भी करना पड़ेगा. संबित पात्रा ने कहा कि यह केस कोई भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी के बीच में नहीं है बल्कि यह केस देश के सर्वोच्च न्यायालय निर्देश पर पश्चात यह केस चल रहा है. संबित पात्रा ने कहा कि गांधी परिवार को लगता है कि हम देश के प्रथम परिवार है,

यह भी पढ़ें: सिरफिरे आशिक ने शादी से इंकार करने पर युवती पर उड़ेला तेजाब, मौत

हम पर केस चल सकता है, ऐसे कैसे हो सकता है. इस देश में कोई ना कोई राजा है और ना ही राजकुमार है. इस देश में हर व्यक्ति समान अधिकार एवं कर्तव्य वाला नागरिक है. पात्रा ने कहा कि यह विषय उन्हें प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी से सीखना होगा. उन्होंने अपने आप को कभी प्रधानमंत्री बोलकर संबोंधन नहीं किया है बल्कि वे स्वयं को देश का सेवक कहा है. इसलिए आप नागरिक है तो आप नागरिक का दायित्व है कि उसे आपको वहन करना और पूर्ण करना होगा. संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस आज बौखलाहट में है उनके प्रवक्ता क्या क्या बोल रहे हैं जबकि उनसे पूछा जाता है की एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड की संपत्ति क्या जवाहर लाल नेहरू की थी तो वे कहते हैं कोरोना सही जवाब देने से कतराते हैं. गांधी परिवार की संपत्ति कांग्रेस नहीं थी . देश के 5000 स्वतंत्रता सेनानियों ने एजेएल मे स्टेक होल्डर थे यह उनकी संपत्ति थी जितना भी फंड उसमें दिया गया था उनका डोनेशन था. संबित पात्रा ने कांग्रेस पर सवाल देते हुए पूछा कि जब आपसे पूछा जाता है कि तत्कालीन सरकार ने दिल्ली, लखनउ, भोपाल सहित

बड़े शहरों में प्राइम लोकेशन पर भूमि आवंटित की थी जो आज करोड़ रूप्ये की है उस भूमि पर बड़े बड़े बिल्डिंग खड़े हैं. क्या यह कांग्रेस की संपत्ति है. तब इसका जबाव देते हैं कि एमएसएमई सेक्टर काम नहीं कर रहा है. संबित पात्रा ने कहा कि यह आप और हम जो टैक्स पेयर हैं उनके खून एवं पसीने की गाढ़ी कमाई की संपत्ति है. जो कि कांग्रेस पार्टी के दो लोगों ने सोनिया गांधी आरोपी नम्बर एक और राहुल गांधी आरोपी नम्बर दो ने गलत तरीके से यंग इंडियन लिमिटेड ने 76 प्रतिशत स्टेक होल्डर के रूप् में हथिया लिया है. जब इनसे पूछा जाता है कि 2008 में एजेएल अखबार के प्रकाशन बंद करने की घोषणा की थी उस एजेएल के सयम  1057 शेयर होल्डर थे क्या उस समय इन सभी  शेयर होल्डर को बुलाकर मीटिंग की गयी थी. क्या आपने उनकी सहमती ली थी. जब एजेएल ने 99 प्रतिशत शेयर यंग इडियन लिमिटेड को टांसफर किया तब उन सभी

शेयर होल्डरो अनुमति ली थी. उसका उत्तर वे नहीं देते हैं कि हमने अनुमति नहीं ली थी. कोर्ट ने कहा है कि कोई अनुमति नहीं ली गयी है. जस्टीस मार्केंडेय काटजू और पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण ने लिखित में शिकायत की है कि हम भी शेयर होल्डर थे. हम से अनुमति नहीं ली गयी. तब ये कहते है कि चीन घुस के बैठ गया, चीन आ गया. क्योंकि उनके पास जबाव नहीं है. पात्रा ने कहा कि जब इनसे पूछा जाता है कि बताइए राहुल गांधी जी क्या यह हकीकत नहीं है कि आपका यंग इंडियन कंपनी का मूलधन था उसके आधार पर 50 लाख रुपए देकर एजेएल की 2000 करोड़ रूप्ये की संपत्ति हड़प ली. इसके लिए आपने डोटेक्ट मर्चेन्डाइज प्राइवेट लिमिटेड से लोन लिया था. ईडी आफिस से बाहर मीडिया कवरेज करने वाले रिपोर्ट बता रहे थे कि इन सवालों का जबाव राहुल गांधी दे नहीं पा रहे हैं. राहुल गांधी ने डोटेक्स मर्चेन्डाइज प्राइवेट लिमिटेड से लोन लिया या नहीं. जिस कंपनी को इंटेलीजेंस यूनिट ने वित्तीय लेने देने को संदिग्ध मानते हुए रेड फलैग की श्रेणी में डाल रखा है. डोटेक्स मर्चेन्डाइज प्राइवेट लिमिटेड हवाला कारोबार करने वाली कंपनियों को आगे बढ़ाती है. इसका जबाव नहीं दे पाते हैं तो कहते हैं बेरोजगारी बेरोजगारी.

उनसे सही सवाल पूछ जाने पर उटपटांग जबाव देते हैं. ऐसी उटपटांग जबाव देकर कांग्रेस पार्टी अपने आप को बुद्धिमान सोच रही है तो ऐसा नहीं सोचे. संबित पात्रा ने कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के बयान पर कहा कि आज हम उन्हें कह रहे हैं क्रोनोलॉजी समझिए.

क्रोनोलॉजी है हिन्दूस्तान की जनता की करोड़ो अरबो रूप्ये की जमीन है वो एजेएल के पास थी. एजेएल कांग्रेस की संपत्ति नहीं थी. मां-बेटे ने यंग इंडिया लिमिटेड कंपनी बनाकर करोड़ों की संपत्ति को लूटा है यही भ्रष्टाचार की क्रोनोलॉजी है. भ्रष्टाचारियों को कानून का सामना करना ही पड़ेगा. संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी यदि आप ईडी के दफतर में टीवी देख रहे होंगे तो यह आपके लिए है. तू इधर उधर की बात न कर सिर्फ ईडी को यह बता मां-बेटे ने कब, कैसे और किधर लूटा.

About The Author

Bhartiya Basti Picture

Bhartiya Basti 

गूगल न्यूज़ पर करें फॉलो

ताजा खबरें

इंग्लैंड में शतक हमेशा विशेष होता है, आत्मविश्वास बढ़ाने का काम करता है : जडेजा
बेड खरीदते से पहले इन बातों पर दें ध्यान, होगा सही चयन
संगीत सुनने से सेहत को मिलते हैं चौकाने वाले फायदे
जितेंद्र कुमार ने जादूगर के लिए सीखा असली जादू
शिक्षा में संस्कृत अनिवार्य करें
बारूद के ढेर पर अगरबत्ती सुलगाती राजनीति
Basti News: जगन्नाथ,रघुनाथ रामपूरन ने मेडिकल कालेज को देह दान करने का पंजीकरण कराया
संजय प्रताप जायसवाल की शिकायत पर बस्ती में सालों से जमे अफसरों का हुआ ट्रांसफर, जानें पूरा मामला
बस्ती में बिना नक्शा पास कराए घर बनाना पड़ा महंगा, DM के निर्देश पर BDA ने लिया कड़ा एक्शन
सुमेर से शुरू मकडज़ाल !